Hindi jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
एक महिला तलाक लेने के लिए कोर्ट पहुँची!
जज साहब मैं अपने पति से तलाक लेना चाहती हूँ!
जज ने पूछा पर क्यों?
महिला ने कहा वह मेरे प्रति वफादार नही है!
जज ने पूछा ये बात तुम्हें कैसे पता चली?
महिला ने जवाब दिया माई लॉर्ड! मेरे एक भी बच्चे की शक्ल उससे नही मिलती!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
वोह कौन थी ?
रंग से गोरी न थी
लेकिन सुन्दर थी
बहोत ऊँची न थी
लेकिन मेरे लिए योग्य थी
प्रेम देने वाली न सही
मेरे कदमो से कदम मिलाती थी
मन्दिर आने से इनकार करती थी
लेकिन बाहर मेरा इंतजार करती थी
कही भी जाओ मेरे लिए रुक जाती थी
वोह कौन थी ?
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
मेरी चप्पल थी
अब कोई चुराके ले गया
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
Girl status - My Lyf My Rulezzz
Boy- Coming for a Movie?
Girl - Gharwale allow nai karenge
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
वकील: "माई लार्ड, कानून की किताब के पेज
नंबर 15 के मुताबिक मेरे मुवक्किल को बा-इज्जत
बरी किया जाये।
जज: "किताब पेश की जाये।"
किताब पेश की गयी, जज ने पेज नंबर 15
खोला तो उसमें 1000 के 5
नोट थे।
जज मुस्कुराते हुए बोला:
"बहुत खूब, इस तरह के 2
सबूत और पेश किये जाये।""
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
हर हिलती हुई झाड़ी मे भूत नही होता !
हो सकता है कोई उसमे अपनी मोहब्बत को अन्जाम दे रहा हो !!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
जब देर रात कोई टौंट मार के पूछता है..
"सोये नहीं.. अभी तक ऑनलाइन हो.. क्या बात है..?"
मन होता है की अपना सड़ता हुआ मोजा उसपे फेंक के कहूँ..
"होश में आ गधे.. तू भी तो ऑनलाइन है..!!"
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
मोहन सिंह अपनी लड़की के लिए वर ढूंढ रहे थे। उनके घर एक परिवार रिश्ता लेकर आया।
मोहन सिंह : क्या बिजनेस करते हो आप?
लड़का : जी मैं कोल्ड ड्रिंक्स बनाता हूं।
.
मोहन सिंह : बड़ा बिजनेस लगता है, काफी कमाई होगी?
.
.
.
लड़का : हां, एकदम अलग कंसेप्ट है। हम ड्रिंक्स को कोल्ड (ठंडा) करके बेचते हैं!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
संता और बंता कई दिनों बाद मिले संता कुछ उदास सा लग रहा था और आँखों में आंसू थे।

बंता ने पूछा, "अरे तुम तो ऐसे लग रहे हो जैसे तुम्हारा सुब कुछ लुट गया हो क्या बात है?"

संता ने कहा, "अरे क्या बताऊँ तीन हफ्ते पहले मेरे अंकल गुजर गए और मेरे लिए 50 लाख रूपए छोड़ गए।"

बंता: तो इसमें बुरी बात क्या है?

संता ने कहा: और सुनो दो हफ्ते पहले मेरा एक चचेरा भाई मर गया जिसे मैं जानता भी नहीं था वो मेरे लिए 20 लाख रूपए छोड़ गया।

बंता ने कहा: ये तो अच्छा हुआ।

बंता ने कहा: पिछले हफ्ते मेरे दादाजी नहीं रहे और वो मेरे लिए पूरा 1 करोड़ छोड़ गए।

बंता ने कहा: ये तो और भी अच्छी बात है पर तुम इतना उदास क्यों हो?

संता ने कहा: इस हफ्ते कोई भी नहीं मरा।