Day Wishes - HindiJokes.Mobi
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 29 days ago

पूजा के दौरान:
माँ: अरे तुम्हें आरती याद है न?
बेटा: हाँ माँ, वो पतली सी, काली आँखों वाली, सुन्दर सी, शर्मा जी की बेटी, वही न?
माँ: कमबख्त, माता की आरती की बात कर रही हूँ।
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 29 days ago
मेरे एक शुभचिंतक ने मुझे यह सुझाव दिया कि लोगों से बहस से नहीं जीतो बल्कि अपनी मुस्कान से हराओ।
मैंने प्रयास किया...
.
.
बीवी बोली, "बहुत ज्यादा हँसी आ रही है तुमको आजकल?"
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago
संता: बेटा इस बार परीक्षा में तुम्हें 90% लाने हैं।
पप्पू: नहीं पापा इस बार मैं 100% लाऊँगा।
संता: क्यों मज़ाक कर रहा है?
पप्पू: शुरू किसने किया?
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago

ज़रूरी नहीं कि हर अच्छी लगने वाली चीज़ समझ में आये।
"जिहाल-ए-मस्ती मुकुन ब रंजिश बहार-ए-हिजरा बेचारा दिल है"आज तक समझ नहीं आया।
किसी को मतलब पता चले तो बताना।
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago

Chartered Accountant: तमीज से बात कर, हम CA हैं।
Tailor: ऐसा है,तो हम भी बहुत सिये हैं, बचपन से आज तक बस सिये ही सिये हैं।
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago

फ़ास्ट फ़ूड खाने से आदमी फ़ास्ट नहीं हो जाता। स्मार्ट फ़ोन रखने से स्मार्ट नहीं हो जाता।
लेकिन लूज मोशन होने से "लूज" ज़रूर हो जाता है।
दिवाली की बची हुई मिठाई संभाल के खाना रे बाबा।
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago
पूजा के दौरान:
माँ: अरे तुम्हें आरती याद है न?
बेटा: हाँ माँ, वो पतली सी, काली आँखों वाली, सुन्दर सी, शर्मा जी की बेटी, वही न?
माँ: कमबख्त, माता की आरती की बात कर रही हूँ।
Ür's Himaŋshʋ Gʋpta: 30 days ago
एडमिन को एक भिखारी मंदिर के बाहर मिला !

भिखारी :- भगवान के नाम पर कुछ दे दो साहब, चार दिन से कुछ नहीं खाया !

एडमिन 500 का नोट निकालते हुए बोला 400 खुले है।

भिखारी :- हां, जी साहब है।

एडमिन :- तो उससे कुछ लेकर खा ले।
#एडमिन_अभी_भी_समझदार_है