Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
प्रिय फ्यूचर वाइफ,
जब तक जहाँ भी रहना है रहो, जो करना है करो..
कम से कम सुबह का नाश्ता और लंच भिजवा दिया करो..
ब्रेड-पकोड़ा, छोले-भटूरे, समोसे और रेस्टौरेंट का गोबर टाइप खाना खा-खा के थक गया हूँ..
हार्ट तो पहले ही गया, अब शरीर भी जवाब देने वाली है.. तो थोडा कोआपरेट करो..!
तुम्हारा,
भूखा और कुपोषित, फ्यूचर हसबैंड !
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
एक 16 के लड़के ने
अपनी मम्मी से कहा की "
मम्मी मुझे मेरे 18 सालवे के
जन्मदिन पर क्या गिफ्ट
दोगी ?
.
तो उस लड़के की मम्मी ने
उस से कहा की जब
तेरा 18
सालवा आएगा तो अलमारी के
ऊपर देख लेना उसमे
तेरा गिफ्ट
रहेगा अभी बता दूंगी तो
गिफ्ट
का मज़ा नहीं आएगा। .
कुछ दिन बाद
वो लड़का बीमार
हो गया उसके
मम्मी पापा उसको अस्पताल
लेकर गए
.
जाँच के बाद डॉक्टर ने
लड़के के माता पिता से
कहा की इसके दिल मै छेद
है ये अब २ महीने से
जयादा नही जी पायेगा
.
2 साल भर बाद लड़का ठीक
होकर घर गया।
तो उसे पता चला की उसकी माँ नही रही।
उसे ये पता चलते ही उसने अलमारी खोली और उसने देखा की अलमारी में एक गिफ्ट
पड़ा था। उसने जल्दी से
वो गिफ्ट खोला
उस गिफ्ट में एक
चिठ्ठी थी उस चिट्टी में
लिखा था की
.
" मेरे जिगर के टुकड़े अगर तू
ये चिठ्ठी पढ़ रहा है
तो तू बिलकुल ठीक
होगा तुजे याद है जब तू
बीमार हुआ था तब हम तुजे
अस्पताल लेकर गए थे
डॉक्टर ने कहा की तेरे
दिल में छेद है तो उस दिन
मै बहुत रोई और
फैसला किया की मेरा दिल
तुजे दूंगी याद है एक दिन
तूने कहा था की मम्मी मुझे
18 साल वे जन्मदिन पर
क्या दोगी तो बेटा मै तुजे
अपना दिल दे रही हु
उसको हमेशा संभाल कर
रखना। …… हैप्पी बर्थडे
बेटा
.
.
सार : एक माँ इसलिए मर
गयी क्यों की उसका बेटा जी सके। ....
दुनिया में माँ से बड़ा दिल
किसी का नही!
.
माँ के दिल जैसा दुनिया मेँ
कोई दिल नहीँ।
.
अगर ये कहानी आप को अच्छी लगी तो जरुर शेयर करे। Love u mom
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
राहुल के स्वागत मे बैंडबाजा
वालो की कुटाई सिर्फ
इसलिए हो गई क्योकि उन्होंने
"तुम तो ठहरे परदेसी साथ
क्या निभाओगे"
बजा दिया था।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
हौंसला तुझ में न था मुझसे जुदा होने का;
.
.
.
.

वरना काजल तेरी आँखों का न यूँ फैला होता।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
कभी खुले आसमान के नीचे अपनी कमाई रख कर
देखिये, रात भर नींद नहीं आएगी .....!


सोचिये किसान पर क्या गुज़रती होगी..???
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
चल आ तेरे पैरों पर मरहम लगा दूँ ऐ
मुकद्दर,

कुछ चोटे तुझे भी आई होगी,
मेरे सपनों को ठोकर मारकर..
उन लोगों का क्या हुआ होगा;
जिनको मेरी तरह ग़म ने मारा होगा;
किनारे पर खड़े लोग क्या जाने;
डूबने वाले ने किस-किस को पुकारा होगा।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
कौन है पुरुष (who is a male)
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
¤ भगवान की ऐसी रचना जो बचपन से हीत्याग
और समझौता करना सीखता है ।
¤ वह अपने चॉकलेटस का त्याग करता है बहन के
लिये ।
¤ वह अपने सपनो का त्याग कर माता-
पिता की खुशी के लिये उनके अनुसार कैरियर
चुनता है।
¤ वह अपनी पूरी पॉकेट मनी गर्ल फ़्रेंड के लिये
गिफ़्ट खरीदने में लगाता है ।
¤ वह अपनी पूरी जवानी बीवी-बच्चों के लिये
कमाने में लगाता है ।
¤ वह अपना भविष्य बनाने के लिये लोन लेता है
और बाकी की ज़िंदगी उस लोन को चुकाने में
लगाता है ।
¤ इन सबके बावजुद वह पूरी ज़िंदगी पत्नी,
माँ और बॉस से डांट सुनने में लगाता है ।
¤ पूरी ज़िंदगी पत्नी, माँ, बॉस और सास उस पर
कंट्रोल करने की कोशिश करते हैं ।
¤ उसकी पूरी ज़िंदगी दुसरो के लियेही बीतती है

और बेचारा पुरुष
~~~~~~~~~~
¤ बीवी पर हाथ उठाये तो "बेशर्म" ।
¤ बीवी से मार खाये तो "बुजदिल" ।
¤ बीवी को किसी और के साथदेख कर कुछ कहे
तो "शक्की" ।
¤ चुप रहे तो "डरपोक" ।
¤ घर से बाहर रहे तो "आवारा" ।
¤ घर में रहे तो "नाकारा" ।
¤ बच्चों को डांटे तो"ज़ालिम" ।
¤ ना डांटे तो "लापरवाह" ।
¤ बीवी को नौकरी करने से रोके तो"शक्की" ।
¤ बीवी को नौकरी करने दे तो बिवी की "कमाई
खाने वाला" ।
¤ माँ की माने तो"चम्मचा" ।
¤ बीवी की माने तो "जोरु का गुलाम"।
पूरी ज़िंदगी समझौता, त्याग और संघर्ष में
बिताने के बावजुद वह अपने लिये कुछ
नहीं चाहता ।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
इसलिये पुरुष की हमेशा इज़्ज़त करें ।
पुरुष ,बेटा, भाई, बॉय फ़्रैंड, पति, दामाद,
पिता हो सकता है, जिसका जीवन
हमेशा मुश्किलों से भरा हुआ है ।
कुछ मित्रोँ कि शिकायत थी की हमेशा नारी कि तारीफ मेँ
पोस्ट डालते हो आज शायद उनकी शिकायत दुर हो गई
होगी ।
अब forward करके के अपना कर्त्तव्य भी निभाओ ।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
एक लड़के की शादी हो गई..
> कल का लड़का आज पति बन गया..

> कल तक मौज करता, हर एक पर comment कसने वाला लड़का,
अब किसी का रखवाला बन गया..

> कल तक अंडरवियर पर पूरे घर में घूमने वाला लड़का,
आज नाईट सूट पहन कर बेडरूम में जाना सीख गया..

> रोज मजे से पैसे खर्च करने वाला लड़का
आज साग-सब्जी का भाव करना सीख गया..

> कल तक FULL SPEED में बाइक चलाने वाला लड़का,
आज BIKE के पीछे बैठालकर हौले हौले चलाना सीख गया..

> कल तक तो तीन टाईम फुल खाना खाने वाला लड़का
आज अपने ही घर में खाना बनाने में मदद करना सीख गया...

> हमेशा जिद करने वाला लड़का,
आज किसी की जिदों को पूरा करना सीख गया..

> कल तक तो मम्मी से काम करवाता लड़का,
आज बीबी के काम करना सीख गया..

> कल तक तो भाई-बहन के साथ झगड़ा करता लड़का,
आज साली सालों से प्यार से बोलना सीख गया..

> पिता की आँख का पानी,
बीबी के ग्लास का पानी बन गया..

> फिर भी लोग कहते हैं कि बेटी परायी हो गयी..

पर वास्तव में बेटा पराया होता है ।


>> यह बलिदान केवल लड़का ही कर सकता है, जो अपने ही घर में रहकर पराया हो जाता है इसिलिए हमेशा बेचारे लड़के की झोली दया और प्यार से भरी रखना....