Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

एक आदमी टॉयलेट में बैठा था कि अचानक से
उसे साथ वाले टॉयलेट से आवाज़
आयी: "क्या हाल है..?"

आदमी घबरा के बोला: "ठीक हूँ"

फिर आवाज़ आयी: "क्या कर रहे हो...?"

आदमी: "ज़रूरी काम से बैठा हूँ..." फिर आवाज़ आयी: "मैं आ जाऊं..?"

आदमी और घबरा के बोला: “नहीं नहीं, मैं अकेला ही ठीक हूँ."

फिर आवाज़ आयी: “अरे यार मैं तुम्हे बाद में कॉल करता हूँ ।
कोई कमीना साथ वाले टॉयलेट से मेरे हर बात का जवाब दे रहा है...!!
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

रीना/शीना/टीना सबको Nice DP बोलने दे ग़ालिब, या फिर वो ईमानदार लड़की दिखा दे, जो DP में डेढ़ सौ फिल्टर ना लगाती हो
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

कहाँ गए वो समाज सेवक, कहाँ गए वो दानशूर व्यक्ति?
जो ठंड मे कपडे, स्वेटर, कंबल बांटते हैं और अब इस मरण यातना वाली गर्मी में ठंडी ठंडी बियर बाँटना, यह उनका कर्तव्य नहीं है क्या? आप नहीं पीते तो क्या, परोपकार भी कोई चीज़ है या नहीं।
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

पप्पू की शादी हो गई और उनका वैवाहीक जीवन शुरु हो गया। एक बार पप्पू ने अपनी पत्नि से पूछा,
"तुमने मुझमें ऐसा क्या देखा कि तुम शादी के लिए तैयार हो गई?"
पप्पू की पत्नी बोली, "मैंने एक-दो बार आपको बर्तन मांजते हुए देखा था।"
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

जब पहली बार इंसान ने मछली का शिकार किया तो मछली ने इंसान को "श्राप" दिया कि...
"हे इंसान तू भी एक दिन "Net" में फंसोगे और बाहर नहीं निकल पाओगे।"
आज मछली का श्राप सच हो गया है।
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago
एकलव्य आज जिंदा होता तो द्रोणचार्य को कोस रहा होता,
बिना अंगूठे के ना तो उसका आधार कार्ड बनता और ना जियो की सिम मिलती।
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

कक्षा दसवीं की परीक्षा मे प्रश्न पूछा गया –
“माल्यार्पण करना” का अर्थ बताओ

होनहार छात्र ने लिखा –

सरकारी बैँकोँ द्वारा गरीब जनता की
गाढी कमाई माल्या को अर्पण
करने को ही माल्यार्पण कहते है।

और बच्चा सीधे MBA के लिये सेलेक्ट हो गया।
Himaŋshʋ Gʋpta: 1 month ago

पति का नाम भले ही शंकर हो लेकिन...
.
.
.
.
.
.
.
.
तांडव हमेशा पत्नी ही करती है।