Jokes > Funny Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
एक लड़की हर रोज़ जब कॉलेज से घर आती तो एक लड़के को अपने घर के आगे खड़ा देखती। जब लड़की उस लड़के की तरफ देखती तो लड़का या तो इधर-उधर देखने लग जाता या फिर अपने मोबाइल पर देखता।

हर रोज़ ऐसा होता और ऐसा होते-होते पूरा एक साल बीत गया।

लड़की को यकीन हो गया कि लड़का उससे प्यार करता है पर कुछ कह नहीं पा रहा। इसलिए लड़की ने एक दिन खुद ही अपने घर वालों से बात कर ली। घर वाले भी बात समझ गए और उनकी शादी के लिए तैयार हो गए।

अगले दिन लड़की ने हिम्मत करके लड़के से कहा, "तुम लगातार एक साल से हर रोज़ मेरे घर के आगे खड़े हो जाते हो। मुझे पता है कि तुम मुझ से बहुत प्यार करते हो और मैं भी तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूँ।"

यह सुनकर लड़का डर गया और कांपते-कांपते बोला, "आप गलत समझ रही हैं बहन जी, दरअसल आपके Wi-Fi पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ और मैं तो हर रोज़ मुफ्त में Wi-Fi का इस्तेमाल करने के लिए आपके घर के आगे खड़ा होता हूँ।"
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
पीने से कर चुका था मैं तौबा मगर जलील;
बादल का रंग देख के नीयत बदल गई।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
IIN hospital
Man : मेरा भाई ठीक तो हो जाएगा ना?
Dr : मैंने दवा दी है, मरीज को अब दुआ की जरूरत है
और
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
मुझे डेटा की!
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
#नरेंद्र मोदी
लाइफ में कोई पार्टनर जरूर होना चाहिए... नहीं तो "मन की बात" रेडियो पर करनी पड़ती है।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं एक जिनसे Hi से ज़्यादा बात ही नही होती;
और दूसरे जो Bye कह कर भी जान नही छोड़ते।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
सरकारी बैंक के कर्मचारी इतनी स्लो टाइपिंग करते हैं बटन ढूंढ-ढूंढ कर कि कई बार तो बटन भी चिल्ला देता है
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
मैं यहाँ हूँ साले, पहली लाइन में दबा मेरे को।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
पठान ने लस्सी की दूकान लगाई।
ग्राहक: अरे इस लस्सी में मक्खी गिरी हुई है।
पठान: ओये, दिल बड़ा रख ये छोटी सी जान, तेरी कितनी लस्सी पी जायेगी।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
आज हम साथ नहीं लेकिन तारीख में तो 7/7 हैं।