Jokes > Funny Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
लडकियों की पोस्ट को फेसबुक पर जितना
सम्मान मिलता है,
.
.
.
.
.
.
यदि उतना हि सम्मान
उन्हे राह चलते वक्त दिया जाये तो
देश की तश्वीर अलग होगी..!!
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
कुछ लौंडे इतने कमाल के होते है कि
अगर उन्हें किसी की कार के काँच पर
पड़ी धुल मिल जाए तो उसपे अपनी
महबूबा का नाम लिखे बिना बाज़
नही आते।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
GF:- जानू मेरी ज्यादा याद कब
आती है
BF:- जब माँ बोलती हे आने दे तेरी बीबी को घर
के सारे काम करवाउंगी
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
Teacher - ye kis ke signature h..? "@@@@"
Boy - meri mummy ke...!
Teacher - kya name h tumhari mummy ka..?
Boy- jalebi bai "@@@@"
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
इतिहास गवाह है जो लौंडा जिम में पहले दिन ही आरनॉल्ड बनने की सोचता है, वो पहले दिन के बाद एक हफ्ते की छुट्टी ज़रूर लेता हैं...!!
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
एक बार जंगल में एक बहुत बड़े से गड्ढे में एक शेर गिर गया। परेशान होकर शेर यहाँ वहां देखने लगा पर उसे कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा था।

तभी वहां एक पेड़ पे एक बंदर आ गया। शेर को इस हाल में फंसा देखकर बंदर शेर का मजाक उडाने लगा।

"क्यों शेर तू तो राजा बना फिरता है, अब तो तेरी अकल ठिकाने आ गयी न, अब शिकारी तुझे मारेंगे, तेरी खाल निकालकर दीवार पर सजायेंगे, तेरे नाखून और दांत निकाल कर दवाई बनायेंगे।

तभी अचानक वो डाल जिस पे बंदर बैठा था, टूट गयी और बन्दर सीधे शेर के सामने आ गिरा।

और गिरते ही बोला, "माँ कसम... माफ़ी मांगने के लिए कूदा हूँ।"
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
एक सुन्दर युवती दवाईयों की एक दुकान के सामने काफी देर तक खडी थी। भीड़ छटने का इंतज़ार कर रही थी। दुकान का मालिक उसे शक की नजर से घूर रहा था।

बहुत देर बाद जब दुकान मे कोई ग्राहक नही बचा, तो वह लड़की दुकान मे आयी।

एक सेल्समन को धीरे से एक किनारे बुलाया।

दुकान मालिक अब और भी ज्यादा चौकन्ना हो गया।

लड़की ने धीरे से एक कागज़ सेल्समन की ओर बढाया और धीरे से फुसफुसायी,

.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
"भैया, मेरी एक डॉक्टर के साथ शादी तय हो गयी है। आज उनकी पहली चिठ्ठी आयी है। थोडा पढ़कर सुनायेंगे क्या?
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
सभी माननीय दामादों की ससुराल दौरे से जुड़ी आवश्यक जानकारी जनहित में जारी

पहली बार:
पूरी, 2 सब्ज़ी, चिकन या मटन ( दामाद जी की इच्छानुसार ), फिश फ्राई, रायता,सलाद, मिठाई और अंत में जबरदस्ती दो मिठाई।

दूसरी बार:
पूरी, 1 सब्ज़ी, चिकन ( बिना दामाद जी को पूछे),गोभी फ्राई, सलाद, मिठाई

तीसरी बार:
पराठा-सब्ज़ी, भिंडी फ्राई, प्याज-टमाटर काट कर और हलवा

चौथी बार:
पराठा-आलू का भुजिया सब्ज़ी, प्याज-टमाटर काट कर, और खाना परोसते हुए पूछा जाएगा कि चिकन बनाएँ क्या

पांचवी बार
जल्दी मे लगते हैं, खाना भी खायेंगे क्या?

छठी बार:
अरे बाद में बैठिये पहले मुन्नू को स्कूल छोड़ आएये और लौटते समय सब्ज़ी लेते आना फिर खाना बनेगा।